डिजिटल मार्केटिंग एवं उसके प्रकार – Digital marketing in hindi

डिजिटल मार्केटिंग क्या है ?

Digital marketing in hindi डिजिटल मार्केटिंग कंप्यूटर तथा फ़ोन के माध्यम से इंटरनेट द्वारा की जाने वाली एक ऑनलाइन मार्केटिंग है | डिजिटल मार्केटिंग दो शब्दों से मिलकर बना है, डिजिटल अर्थात इंटरनेट और मार्केटिंग का अर्थ होता है बाजार अर्थात इंटरनेट का बाजार | वर्तमान समय में  डिजिटल मार्केटिंग की ग्रोथ  निरन्तर बढ़ती ही जा रही है क्युकी आजकल हर कोई इंटरनेट का इस्तमाल कर रहा है इसलिए वर्तमान में हर कंपनी अपने बिजनेस  तथा प्रोडक्ट को को परमोट करने करने के लिए डिजिटल मार्केटिंग का उपयोग कर रहे है | डिजिटल मार्केटिंग अपने बिजनेस को फ़ैलाने का सबसे अच्छा माध्यम है | आज युग में दुनिया डिजिटलाइज हो चुकी है आज हर कोई लगभग डिजिटल मार्केटिंग का उपयोग कर ऑनलाइन ही वस्तुओ को खरीद रहा है | डिजिटल मार्केटिंग में लोगो को एक  दूसरे से ऑनलाइन इंटरनेट के माध्यम से जोड़ा जाता है |

मार्केटिंग क्या है ?

यदि मार्केटिंग की बात करे तो यह ऑनलाइन (डिजिटल मार्केटिंग) तथा ऑफलाइन दोनों प्रकार से की जा सकती है | ऑफलाइन मार्केटिंग की बात करे तो जब भी आप बाहर कहि घूमने जाते हो  तो अपने देखा होगा कई कंपनीया अपने प्रोडक्ट का बैनर लगाए रहते है या फिर यदि आप अख़बार पड़ते हो तो उसमे भी कई कम्पनिया अपने प्रोडक्ट का विज्ञापन दिए रहते है ताकि ग्राहकों को उनके प्रोडक्ट के बारे में पता चल सके और लोग उनके प्रोडक्ट की ओर आकर्षित हो सके परन्तु इनमे विज्ञापन देने में बहुत लागत लगती है | यदि बात करे ऑनलाइन मार्केटिंग जिसे हम डिजिटल मार्केटिंग भी कहते है | ऑनलाइन मार्केटिंग में कम्पनिया अपने प्रोडक्ट का विज्ञापन ग्राहकों तक ऑनलाइन इंटरनेट के माध्यम से देते है | आज के समय हर कोई कंपनी यही चाहेगी की वो किस प्रकार अपने प्रोडक्ट को ग्राहकों तक पहुंचा सके जिसके लिए सबसे अच्छा माध्यम डिजिटल मार्केटिंग है |

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार (Types of Digital marketing)

डिजिटल मार्केटिंग के बहुत से प्रकार है जिसके द्वारा हम अपने प्रोडक्ट को कस्टमर (ग्राहक) तक पहुंचा सकते है और उसे अपने प्रोडक्ट की ओर आकर्षित कर सकते है तो आइये देखते है डिजिटल मार्केटिंग के कुछ महत्वपूर्ण प्रकार –

Digital marketing

एस० ई० ओ० मार्केटिंग (SEO Marketing)

SEO का विस्तरित रूप सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (Search Engine Optimization) होता है | यह डिजिटल मार्केटिंग का सबसे महत्वपूर्ण प्रकारो में से एक है जिसके द्वारा हम अपनी वेबसाइट पर बहुत सारा ट्रैफिक (यूजर) ला सकते है और यूजर को अपने प्रोडक्ट के बारे में बता सकते है | इसके लिए आपको एक वेबसाइट या फिर कंपनी का एक ब्लॉग बनाना पड़ता है जिसमे हम अपने प्रोडक्ट को यूजर को Direct बता सके जैसे ही हम कोई भी वेबसाइट या फिर ब्लॉग बनाते है तो हमे उसे सर्च इंजन  में रैंक पर  लाने के लिए उसमे SEO करना पड़ता है ताकि हमारे वेबसाइट में यूजर आये और उनको हमारे प्रोडक्ट के बारे में पता चल सके | यदि यूजर ने  आपकी वेबसाइट से संबंधित कुछ भी सर्च इंजन जैसे गूगल याहू आदि में सर्च किया तो वो सीधे आपकी  वेबसाइट में जा सके और उसे आपके प्रोडक्ट बारे में पता चल सके |

एस० एम्० ओ० मार्केटिंग (SMO Marketing)

का विस्तरित रूप सोशल मीडिया मार्केटिंग है | यह डिजिटल मार्केटिंग का सबसे महत्वपूर्ण भाग है | यहां कंपनी प्रोडक्ट को सोशल मीडिया जैसे – Facebook, Instagram, twitter, Pinterest आदि सोशल साइट  पर डालता है और यूजर को अपनी ओर आकर्षित करता है | इन सोशल साइट पर बहुत ज्यादा ट्रैफिक रहता है जिसका लाभ कंपनी को मिलता है | इस प्लेटफॉर्म  पर  जब  भी कम्पनी किसी प्रोडक्ट का विज्ञापन देती है तो वह यह भी देख सकते है की यूजर (ग्राहक) की प्रोडक्ट के प्रति क्या टिप्पणी है |

एस ० एम् ० एम् ० (SMM Marketing)

SMM का विस्तरित रूप सोशल मीडिया मार्केटिंग है। यह एस० एम० ओ० की तरह ही  अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म (फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, टिक्कॉट, आदि) पर आपके कंपनी के प्रोडक्टों  या सेवा के बारे में विज्ञापन चलाने के लिए प्रयोग किया जाता  है, जिसकी मदद से हम अपने उत्पाद के बारे में लोगों को बहुत जल्दी और आसानी से और सामाजिक माध्यम से बता सकते हैं  प्रोडक्ट का विज्ञापन सोशल मीडिया स्वयं करता है  लेकिन  यह एसएमओ की तरह फ्री नहीं है |

कॉन्टेंट मार्केटिंग (Content Marketing)

कॉन्टेंट मार्केटिंग का अर्थ होता है की आप अपने प्रोडक्ट की सारी जानकारी कॉन्टेंट के रूप में बताना अर्थात अपने प्रोडक्ट का पूरा विवरण करना उनको बताना की वह किस वस्तु को सेल कर रही है  अपने प्रोडक्ट के फीचर को यूजर (ग्राहकों) तक पहुँचाना जैसे कार्य कॉन्टेंट मार्केटिंग द्वारा की जाती है |

ई-मेल मार्केटिंग (E-mail Marketing)

ई-मेल का विस्तरित रूप इलेक्ट्रॉनिक मेल है | जब कोई कंपनी उत्पादन का विज्ञापन देती है तो उसमे एक प्रकार ई-मेल भी है  इसका प्रयोग  अनेक यूजर्स को एक साथ मेल करने के लिए किया जाता है | इसमें कंपनी अपने प्रोडक्ट की जानकारी कई ग्राहकों तक  एक साथ भेज सकती है |

यू-ट्यूब मार्केटिंग (You-tube Marketing)

यू-ट्यूब मार्केटिंग को सोशल मीडिया के सबसे अच्छे मार्केटिंग में से एक गिना जाता है | जब भी आप यू-ट्यूब खोलते है और  आप कोई टॉपिक सर्च करते है तो आपने देखा होगा वहा पर बहुत सारे प्रोडक्ट का विज्ञापन आता है यदि यूजर को प्रोडक्ट अच्छा लगता है तो वह वहाँ से उस प्रोडक्ट पर जाता है इसी प्रकार आप भी यू-ट्यूब में अपना विज्ञापन (ADD) दे सकते है क्युकी इस पर सबसे अधिक ट्रैफिक रहता है और आपके प्रोडक्ट की और अधिक मार्केटिंग हो लेकिन यह एक paid service है  |

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliation Marketing)

एफिलिएट मार्केटिंग भी डिजिटल मार्केटिंग का अहम प्रकार है Affiliation Marketing  एक ऐसी मार्केटिंग है जिसमे कोई ब्लॉगर या वेबसाइट Owner किसी कंपनी के प्रोडक्ट को अपनी वेबसाइट के माध्यम से सेल (बिक्री) या प्रमोट करता है या फिर कोई You tuber अपने चैनल के माध्यम से किसी प्रोडक्ट को प्रमोट करता है तो वह आपको उसका कमीशन देते है इसके लिए आपकी साइट या you tube चैनल पर अत्यधिक ट्रैफिक होना चाहिए |

 

1 COMMENT

  1. Nice article sir thanks for sharing these types of posts.
    Or again thank you sir jo ap me mughe SMO Marketing or SMM Marketing ke bare me btaya main in dono ko leke bahut jada confuse me tha ap ne mera pura dought clear kar diya.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here