कंप्यूटर का परिचय | Introduction of computer in hindi

कंप्यूटर का परिचय (Introduction of Computer)

दोस्तों आप सभी को पता है कंप्यूटर आने से दुनिया में टेक्नोलॉजी काफी बड़ चुकी है (Introduction of computer in hindi) आज हर कार्य कंप्यूटर की मदद से किया जाता है चाहे वह घर बैठे ऑनलाइन शॉपिंग हो या ऑनलाइन बैंकिंग, ऑफिस आदि कार्य हो सभी कार्य कंप्यूटर की मदद से ही किये जाते है | कंप्यूटर क्षेत्र में आई इस क्रांति ने टेक्नोलॉजी को काफी बड़ा दिया है | तो आइए शुरू करते है की कंप्यूटर क्या है और किसने इसे विकसित किया है |

Computer Diagram

कंप्यूटर(Computer)

कंप्यूटर का जनक चार्ल्स बैबेज (Charles Babbage) को कहा जाता है | कंप्यूटर एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक यंत्र है जो एक अंकगणितीय (Arithmetic) एवं तार्किक (Logical) गणना कर सकता है | एवं इसके पास डाटा (Data) को स्टोर (Store) करके, पुनः प्राप्त करने (Retrieving) तथा अत्यधिक मात्रा में प्रोसेसिंग करने की सामर्थ्य होती है |

कम्प्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो निर्देश लेती है और बहुत तेज गति से सुचना को प्रोसेस (process) करके परिणाम दर्शाती है | कंप्यूटर को डाटा एडिट (Data Edit) , सेव (Save) , टेक्स्ट पिक्चर (Text picture) , ध्वनि तथा नंबर्स (Numbers) दर्शाने के लिए भी इस्तेमाल क्र सकते है |

कंप्यूटर का वर्गीकरण 

कंप्यूटर के बारे में तो आप सभी जान गए होंगे की कंप्यूटर क्या होता है और इसका इस्तेमाल क्यों किया जाता है तो दोस्तों अब हम देखेंगे की कंप्यूटर के प्रकार क्या होते है हम सिर्फ कंप्यूटर को ही जानते है की कंप्यूटर क्या होता है पर ऐसा नहीं होता है इसे भी अलग अलग भागो में विभाजित किया गया है तो आइये देखते है कंप्यूटर को निमन्तः 3 तीन भागो में वर्गीकृत किया गया है जो निचे दिए गए है |

  • डिजिटल कंप्यूटर

  • एनालॉग कंप्यूटर

  • हाईब्रिड कंप्यूटर

डिजिटल कंप्यूटर

डिजिटल कंप्यूटर एक डिजिटल सिस्टम है जो विभिन्न कंप्यूटर पर कार्य करता है तथा जो सभी डाटा को डिजिटल रूप में प्रदर्शित करता है अर्थात यह डाटा को बाइनरी नंबर 0 तथा 1 में ही भेजता है क्युकी कंप्यूटर केवल मशीन भाषा को ही समझ सकता है इसलिए इसमें सभी प्रकार की सूचनाओं को 0 तथा 1 के रूप में प्रदर्शित करता है | कोई भी यूजर जो कंप्यूटर का यूज़ करता है लगभग सत प्रतिशत लोग डिजिटल कंप्यूटर का ही इस्तेमाल करते है | डिजिटल कंप्यूटर को भी निमन्तः चार भागो में बाटा गया है |

  • माइक्रो कंप्यूटर

  • मिनी कंप्यूटर

  • सुपर कंप्यूटर

  • मेनफ़्रेम कंप्यूटर

माइक्रो कंप्यूटर

माइक्रो कंप्यूटर को माइक्रोप्रोसेसर का एक मुख्य भाग माना जाता है | माइक्रो कंप्यूटर का इस्तेमाल पर्सनल कंप्यूटर के लिए किया जाता है क्युकी इसका उपयोग घर ऑफिस तथा शिक्षा तथा अन्य क्षेत्रों में किया जाता है | यह कंप्यूटर माइक्रोप्रोसेसर से बनते है |

मिनी कंप्यूटर

मिनी कंप्यूटर की प्रोसेसर की छमता माइक्रो कंप्यूटर से कई गुना अधिक होती है | इसका आकर भी माइक्रो कंप्यूटर से अधिक होता है परन्तु मेनफ्रेम कंप्यूटर से कम होता है | इसके प्रोसेसर की क्षमता भी मेनफ्रेम कंप्यूटर से कम होती है इसका इस्तेमाल मुख्यतः डाटा प्रोसेसिंग डेस्कटॉप पब्लिशिंग के लिए किया जाता है |

मेनफ़्रेम कंप्यूटर

मेनफ्रेम कंप्यूटर की बात करे तो इसकी प्रोसेसिंग की स्पीड सबसे अधिक होती है परन्तु इसका आकर बहुत बड़ा होता है | यह कंप्यूटर बड़े पैमाने में डाटा तथा इनफार्मेशन को स्टोर कर सकते है इसलिए मेनफ्रेम कंप्यूटर का निर्माण किया गया | मेनफ्रेम कंप्यूटर का इस्तेमाल केवल बड़े संस्थानों में ही किया जाता है | यदि इसकी लागत देखे तो इसकी लागत अन्य कंप्यूटर में सबसे अधिक होती है |

एनालॉग कंप्यूटर

इस पद्धति में वे कंप्यूटर आते है जिनका प्रयोग भौतिक इकाई (तापमान, दाब, इलेक्ट्रॉनिक करंट आदि को मापकर उनको संख्या (अंको) के रूप में बदलता है | अर्थात वह डिवाइस जो कंटेनर वैरिएबल फिजिकल राशियों जैसे पेट्रोल डीजल के दाम तथा राशन जैसे आलू प्याज आदि के दाम को एनालॉग रूप में परिवर्तित करके हमको दिखाता है |

हाईब्रिड कंप्यूटर

हाइब्रिड कंप्यूटर एनालॉग कंप्यूटर तथा डिजिटल कंप्यूटर के मिश्रित गुणों से मिलकर बना होता है इसलिए इसमें दोनों के ही फीचर मौजूद होते है इस कंप्यूटर की लागत भी अधिक होती है ये कंप्यूटर दोनों कंप्यूटर का काम थोड़ा थोड़ा कर सकता है | इसका उपयोग केवल वैज्ञानिक शोध एरोप्लेन आदि आद्योगिक संस्थाओ में किया जाता है |

 

कंप्यूटर सिस्टम (Computer System)

कंप्यूटर सिस्टम के सभी घटको को साधारण समीकरण द्वारा भी समझे जा सकते है |

कंप्यूटर सिस्टम = हार्डवेयर + सॉफ्टवेयर + यूजर

Computer System = Hardware + Software + User

  • हार्डवेयर = कंप्यूटर के सारे फिजिकल डिवाइस जिसे हम छू सकते है कंप्यूटर हार्डवेयर कहलाता है | 

hardware = Internal Devices + Peripheral Devices

  • सॉफ्टवेयर (Software)

Software = Program

सॉफ्टवेयर प्रोग्रामो का समूह होता है (set of program) जो कंप्यूटर को इंटेलिजेंस देते है तथा मौजूदा हार्डवेयर पर कार्य करता है |

  • यूजर = पर्सन

User = Person

जो कंप्यूटर पर कार्य व संचालित करता है |

कंप्यूटर के भाग (Part of Computer)

कंप्यूटर के अनेक भौतिक भाग होते है जैसे – मॉनिटर, माऊस, की -बोर्ड, सी० पी० यू० आदि |

मॉनिटर (Monitor)-

मॉनिटर एक आउटपुट डिवाइस है यह कंप्यूटर का डिस्प्ले होता है | यह यूजर द्वारा दिए गए इनपुट को स्क्रीन पर दिखाता है अर्थात यह यूजर द्वारा दिए गए इंस्ट्रक्शन को फॉलो करता है |

सी० पी० यू० (CPU)-

सी० पी० यू० का पूरा नाम सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट है सी० पी० यू० कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण भाग है सी० पी० यू० को कंप्यूटर का मस्तिष्क कहाँ जाता है | सी० पी० यू० भी तीन मुख्य भागो से बना होता है –

  1. अर्थमैटिकल लॉजिकल यूनिट (ALU)
  2. मैमोरी यूनिट (Memory unit)
  3. कंट्रोल यूनिट (Control unit)
अर्थमैटिकल लॉजिकल यूनिट (ALU)

यह कंप्यूटर सिस्टम का ब्रेन भी कहलाता है | यह कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण भाग है | ए० एल० यू० का शाब्दिक अर्थ अर्थमैटिकल लॉजिकल यूनिट होता है | ए० एल० यू० सभी तरह की अंकगणितीय गणना एवं तार्किक टास्क को पूरा करती है जैसे – अभी अंको को जोड़ना (Addition), घटाना (Subtraction), गुणा (Multiplication), भाग (Division), आदि गणनाए ए० एल० यू० द्वारा ही किया जाता है |

मैमोरी (Memory)

मैमोरी कंप्यूटर सिस्टम का एक मुख्य भाग है | मैमोरी को एक भंडार (स्टोरेज एरिया) भी कहा जाता है जिसमे सभी प्रकार डाटा, प्रोग्राम एवं ऑपरेशन के बाद मैमोरी में स्टोर होता है | जब डाटा एवं निर्देश इनपुट डिवाइस द्वारा सी० पी० यू० को भेजे जाते है उससे पहले वह मैमोरी में स्टोर होता है उसके उपरांत ही कंप्यूटर उसे स्क्रीन में दर्शाता है | मैमोरी को दो भागो में बाटा गया है –

  1. प्राईमरी मैमोरी
  2. सेकण्डरी मैमोरी
कंट्रोल यूनिट (Control Unit)

कंट्रोल यूनिट सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट की एक महत्वपूर्ण इकाई है | कंट्रोल यूनिट ही यूजर द्वारा दिए गए निर्देशों को नियंत्रित करके एक जगह से दूसरे जगह तक पहुंचाने का कार्य करती है |

कंप्यूटर की विशेषताएं (Characteristics of a Computer)

  • रफ़्तार (Speed)
  • परिशुद्धता (Accuracy)
  • संग्रहण क्षमता (Storage Capacity)
  • कर्मठता (Diligence)
  • विश्वस्नीयता (Reliability)
  • विविधता (Versatility )

कंप्यूटर का पूरा नाम (Full form of Computer)

C- Commonly

O- Operating

M- Machine

P- Particular

U- Used to

T- Technical

E- Education

R- Research

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here