प्रिंटर एवं उसके प्रकार What is printer in Hindi

प्रिंटर क्या है ? (What is printer)

प्रिंटर एवं उसके प्रकार What is printer in Hindi प्रिंटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो कंप्यूटर पेरीफेरल डिवाइस की एक मुख्य आउटपुट डिवाइस है |  जिसका प्रयोग सॉफ्ट कॉपी को हार्ड कॉपी में बदलने के लिए किया जाता है | प्रिंटर के द्वारा टेक्स्ट, चित्र, आदि को पेपर पर प्रिंट किया जाता है | प्रिंटर को कंप्यूटर के मॉनिटर से जोड़ा जाता है चाहे उसे केबल के साथ जोड़ा जाए या फिर नए पीढ़ी के प्रिंटर को ब्लूटूथ के साथ जोड़ कर भी हार्ड कॉपी प्राप्त किया जाता है | प्रिंटर अनेक प्रकार के होते है परन्तु इसे दो मुख्य भाग इम्पैक्ट प्रिंटर (Impact printer) तथा दूसरा नॉन इम्पैक्ट प्रिंटर (Non impact printer) में बाटा गया है |

प्रिंटर का इतिहास (History of printers)

प्रिंटर का आरंभ 19 वी शताब्दी में चार्ल्स बैबेज के द्वारा किया गया | 19 वी शताब्दी से आज तक प्रिंटर में काफी बदलाउ आए वर्तमान के प्रिंटर बहुत एडवांस तकनीकी के होते है इसमें टैक्सट, इमेज, ग्राफिक जैसे आदि को आसानी से प्रिंट किया जा सकता है और एक साथ में कई कॉपी को एक साथ निकाला जा सकता है जबकि पहले के प्रिंटर में ऐसा नहीं होता था तब केवल टैक्स्ट को ही पेपर पर प्रिंट किया जा सकता था ना की इमेज ग्राफिक आदि को | जिस प्रकार टेक्नोलॉजी बढ़ती गई उसी प्रकार प्रिंटर में भी नए नए तकनीकी का प्रयोग किया गया |

प्रिंटर के प्रकार (Types of Printer)

Diagram of printer

इम्पैक्ट प्रिंटर (Impact printer)

इम्पैक्ट प्रिंटर वे प्रिंटर होते है जो पेपर पर अपना प्रभाव छोड़ता है | इम्पैक्ट प्रिंटर टाइप राइटर की भाती ही कार्य करता है यह टाइप राइटर की तरह जो इंक वाले रिबन पर आघात (Impact) करता है | इम्पैक्ट प्रिंटर से प्रिंट करने पर अत्यधिक ध्वनि उत्तपन होती है | इम्पैक्ट प्रिंटर प्रिंट हेड (Print head) का प्रयोग करता है | इम्पैक्ट प्रिंटर को दो भागो में बाटा गया है |

  • करैक्टर प्रिंटर (Character Printer)
  • लाइन प्रिंटर (Line Printer)

करैक्टर प्रिंटर (Character Printer)

करैक्टर प्रिंटर उस प्रिंटर को कहा जाता है जो एक समय में केवल एक ही अक्षर को प्रिंट करता है | इसके द्वारा अक्षर प्रिंट करने के अलावा अन्य कोई और प्रिंटिंग नहीं की जा सकता है इसका इस्तेमाल बहुत कम किया जाता है | इसे दो भागो में विभाजित किया गया है |

  • डेजी व्हील प्रिंटर (Daisy wheel printer)
  • डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर (Dot matrix printer)
डेजी व्हील प्रिंटर (Daisy wheel printer)

इस प्रिंटर में मेटल हब एवं स्पोक्स होता है जिसमे अक्षर का उभार होता है | जब स्पोक्स रिबन पर इम्पैक्ट करते है तब वह पेपर पर छप जाते है | यह पेपर पर एक अच्छे क़्वालिटी का प्रिंट करता है इसकी गति डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर की अपेक्षा कम रहती है इसके द्वारा ग्राफिक्स की छपाई नहीं की जा सकती है |

Daisy Wheel Printer
डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर (Dot matrix printer)

इस प्रिंटर छोटे छोटे बारीक़ पिन इंक वाले रिबन पर आघात करते है और ये छोटे छोटे पिन एक सही करैक्टर का आकर ले लेते है | डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर में सामान्यतः 24 पिन हेड (pin head) होते है | इस प्रिंटर के द्वारा ग्राफिक्स एवं टैक्स्ट दोनों को प्रिंट किया जाता है | इस प्रिंटर की लागत भी अन्य प्रिंटर से कम है |

Dot matrix printer

लाइन प्रिंटर (Line printer)

यह प्रिंटर एक बार में केवल एक ही लाइन को प्रिंट कर पाता है एक से अधिक लाइन इस प्रिंटर द्वारा एक बार में नहीं होता है | इस प्रिंटर द्वारा पेपर को प्रिंट करने में समय बहुत अधिक लगता है क्योकि दूसरी लाइन प्रिंट करने के लिए प्रिंटर दो दूसरी बार प्रिंट कमांड भेजनी पड़ती है | इस प्रिंटर की लागत बहुत कम होती है | इसे मुख्य रूप से दो भागो में विभाजित किया गया है |

  • ड्रम प्रिंटर (Drum printer)
  • चेन प्रिंटर (Chain printer)
ड्रम प्रिंटर (Drum printer)

इस प्रिंटर का आकर एक गोल ड्रम की भाती होता है इस प्रिंटर के आंतरिक सतह पर करैक्टर रिंग के आकर में लगे होते है जो की सतह से उभरे हुए होते है | जब प्रिंटिंग हैमर ड्रम के करैक्टर पर इम्पैक्ट करता है जिससे लाइन प्रिंट हो जाती है | यह गोल घूमते रहता है और अक्षरों पर इम्पैक्ट करने उनको पेपर पर प्रिंट करता है |

Drum printer
चेन प्रिंटर (Chain printer)

चेन प्रिंटर ड्रम प्रिंटर की भाती ही कार्य करता है इसकी सतह में भी अक्षर उभरे हुए रहते है इसके रिबन पर हैमर होते है जो की पेपर पर आघात पहुँचाकर अक्षरों (Character) को कागज पर प्रिंट करता है |

Chain printer

नॉन इम्पैक्ट प्रिंटर (Non-impact printer)

इस प्रकार के प्रिंटर में कागज पर किसी भी प्रकार का कोई आघात नहीं किया जाता है इसमें फोटो तथा अक्षर को प्रिंट कराने के लिए लेजर थर्मल तथा इंकजेट का प्रयोग किया जाता है | यह प्रिंटर पेपर को बिना किसी ध्वनि के आराम से प्रिंट करता है | इस प्रिंटर का सबसे अधिक लाभ यह है कि इसमें पेपर को रंगीन तथा एक ही रंग दोनों में प्रिंट कर सकता है | यह मुख्यतः तीन प्रकार के होते है –

  • लेज़र प्रिंटर (Laser printer)
  • इंकजेट प्रिंटर (Inkjet printer)
  • थर्मल प्रिंटर (Thermal printer)
लेज़र प्रिंटर (Laser printer)

यह एक ऐसा प्रिंटर होता है जिसमे कागज पर प्रतिबिंम्ब बनाने के लिए लेज़र बीम का प्रयोग किया जाता है | लेज़र का प्रकाश ड्रम को इलेक्ट्रिकल चार्ज में बदल देता है जहा कहि भी यह हिट करता है तब ड्रम टोनर के रिसरवायर के द्वारा रोल कर दिया जाता है जिसे ड्रम के आवेशित भाग द्वारा चुन लिया जाता है | यह पहले पेज को पूरा लोड करता है फिर कागज पर टैक्स्ट को प्रिंट करता है | इसका प्रयोग केवल पेपर (डॉक्यूमेंट ) को प्रिंट करने के लिए किया जाता है इसके द्वारा कोई ग्राफिक्स जैसे फोटो पासपोर्ट साइज फोटो आदि नहीं निकाले जा सकते है इसका आकर इंकजेट प्रिंटर की अपेक्षा बड़ा होता है |

Laser printer
इंकजेट प्रिंटर (Inkjet printer)

यह एक नॉन इम्पैक्ट प्रिंटर है जो पेपर पर प्रिंट करने के लिए कार्ट्रिज का इस्तेमाल करता है | इस प्रिंटर के द्वारा हम ग्राफिक्स जैसे फोटो आदि प्रिंट कर सकते है | यह पेपर पर अक्षरों को लाइन बाई लाइन प्रिंट करता है | इंकजेट प्रिंटर 300 डॉट्स पर इंच का रेसोलुशन प्रदान करता है | इसमे अलग अलग प्रकार की श्याही का प्रयोग किया जाता है जिससे यह एक रंगीन (colorful) फोटो (Image) प्रिंट कर पाता है |

Inkjet printer

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here